For expansion and improvement of health facilities in a government hospital, a letter has to be written to the concerned officer

सेवा में, 

      मुख्य स्वास्थ्य पदाधिकारी 

      राँची


महोदय, 

मैं आपका ध्यान सरकारी अस्पतालों की बदहाल व्यवस्था की ओर दिलाना चाता हूँ। अधिकाशं अस्पतालों में सुविधाओं का घोर अभावा है। आकस्मिक सेवाएँ तो नहीं के बराबर हैं। पिछले सप्ताह की हमारे मुहल्ले के एक युवक को दुर्घटना में गंभीर चोटें आयीं। लोग उसे स्थानीय चिकित्सा केन्द्र में ले गये। वहाँ कोई ड्यूटी डॉक्टर नहीं मिला। रक्तास्त्राव रोकने के लिए साफ बैंडेज और रूई भी परिजनों को बाजार से लाने को कहा गया। दवाएँ थीं तो वे भी एक्सपायरी। डाक्टर के इन्तजार में जब मरीज की स्थिति बिगड़ने लगी तो आनन—फानन उसे पास के शहर में प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया और किसी तरह उसकी जान बची। 


महोदय से आग्रह है कि सरकारी अस्पतालों की स्थिति में सुधार और सुविधाओं के विस्तार के लिए कारगर कदम उठाये जायँ। समर्थ लोगों के लिए तो प्राइवेट अस्पतालों की कमी नहीं। बेचारे गरीब कहाँ जाएँ। 


दिनांक...............                                                                                                                          भवदीय

                                                                                                                                           नाम.................

                                                                                                                                            पता.................