सेवा में, 

     श्रीमान छात्रावास-अधीक्षक,

     राजकीय बुनियादी विद्यालय, गोविंदपुर।


महाशय, 


     निवंदन है कि मै आपके विद्यालय में दसवी श्रेणी का छात्र हूँ। अब तक मैं पिताजी के साथ रहता था। मेरे पिताजी यहाँ विद्युत-विभग के अभियंता थे, किंतु उनका स्थानांतरण रांची हो गया। मैं नहीं चाहता किं आपके विद्यालय को छोड़कर कहीं दूसरी जगह जाऊँ। आपके विद्यालय की पढ़ाई कितनी अच्छी है, इसे सभी शिक्षप्रेमी जानते है। इसके सिवा आपका स्नेह मेरे प्रति इतना रहा है कि वह मुझे यहाँ से अन्यत्र जाने से रोकता है। 


अतः श्रीमान से विनम्र प्रार्थना है कि आप कृप्या अपने छात्रावास में एक स्थान देकर मुझे कृतार्थ करे। 


12-05-2020                                                                                                     आपका आज्ञाकारी 

                                                                                                                             राधेश्याम

                                                                                                                      दशम श्रेणी, क्रमां ए 21