स्थापना              -15 नवम्बरए 2000 ई़ को
स्थापना दिवस        -15 नवम्बर
राजधानी             -रांची
उपराजधानी           -दुमका
उच्च न्यायालय         - रांची
राजकीय भाषा                   -हिन्दी 
द्वितीय राजकीय भाषा             - उर्दू

अन्य भाषायें                    -संथाली, बांग्ला, मुंडारी, हो, कुडुख,   खोरठा, पंचपरगनिया, नागपुरिया
राजकीय पशु                 -हाथीराजकीय पक्षी                -कोयल
राजकीय वृक्ष                 -साल
राजकीय पुष्प                 -पलाश
प्रतीक चिह्न                 -चारजे' अक्षरों के बीच अशोक चक्र
नामकरण                   -जंगल-झाड़ की बहुलता के कारण नाम झारखण्ड पड़ा अक्षांशीय विस्तार             -21°58'10" से 25°18' उत्तरी अक्षांश
देशान्तरीय विस्तार            -83°19'50" से 87°57पूर्वी देशान्तर
लम्बाई (उत्तर से दक्षिण)       -380 किमी.
चौड़ाई (पूर्व से पश्चिम)         -463 किमी.
भौगोलिक स्थिति              -भारत के उत्तर पूर्वी भाग में
भौगोलिक सीमायें -उत्तर में बिहार
, दक्षिण में ओडिशा, पूर्व में श्चिम बंगाल, पश्चिम में छत्तीसगढ़ एवं उत्तर प्रदेश
राज्य का आकार               -चतुर्भुजाकार
जलवायु                       -मॉनसूनी
औसत वार्षिक वर्षा               -140 सेमी.
कुल वन भूमि                 -22,977 वर्ग किमी. ( लगभग 29.1 प्रतिशत )
क्षेत्रफल                      -79,714 वर्ग किमी.ग्रामीण क्षेत्रफल                -77,922 वर्ग किमी.
शहरी क्षेत्रफल                   -1,792 वर्ग किमी.
भारत के कुल क्षेत्रफल का हिस्सा    -2.42 प्रतिशत
राज्य की सीमा को स्पर्श करने वाले राज्य  –बिहार, ओडिशा, पश्चिम, बंगाल, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश
भारतीय संघ में राज्य की स्थापना की दृष्टि से स्थान  -28वाँ
क्षेत्रफल की दृष्टि से झारखण्ड का देश में स्थान       -16वाँक्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा प्रमंडल              -उत्तरी छोटानागपुर
क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा प्रमंडल              -पलामू
क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे बड़ा जिला              , सिंहभूम
जनसंख्या की दृष्टि से सबसे बड़ा प्रमंडल              -उत्तरी छोटानागपुर
जनसंख्या की दृष्टि से सबसे छोटा प्रमंडल                             -पलामू
जनसंख्या की दृष्टि से सर्वाधिक बड़ा जिला             -रांची
जनसंख्या की दृष्टि से सर्वाधिक छोटा जिला          -लोहरदगा
सर्वाधिक जनसंख्या वाले प्रथम चार जिले             -रांची, धनबाद, गिरिडीह, पूर्वी सिंहभूम
न्यूनतम जनसंख्या वाले प्रथम चार जिले              -लोहरदगा, खुटी, सिमडेगा, कोडरमा
सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला जिला                   -धनबाद
न्यूनतम जनसंख्या घनत्व वाला जिला                   -सिमडेगा
सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाले प्रथम चार जिले     -धनबाद, बोकारो, रामगढ, पूर्वी सिंहभूम्
न्यूनतम जनसंख्या घनत्व वाले प्रथम चार जिले      -सिमडेगा, लातेहार, गुमला, प. सिंहभूम
लिंगानुपात                                                           -949 महिलाएं प्रति 1000 पुरुषों पर
सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला                          -पश्चिम सिंहभूम
न्यूनतम लिंगानुपात वाला जिला                -धनबाद
सर्वाधिक लिंगानुपात वाले प्रथम चार जिले             -प. सिंहभूम, सिमडेगा, खूटी, गुमला
न्यूनतम लिंगानुपात वाले प्रथम चार जिले            -धनबाद, रामगढ़, बोकारो, देवघर,
3 मुख्य फसल                                    -धान
कुल कृषि योग्य भूमि                     -38 लाख हेक्टेयर
शुद्ध बोया गया क्षेत्र                                    -18.07 लाख हेक्टेयर
कुल सिंचित क्षेत्र                                       -1.95 लाख हेक्टेयर  
प्रमंडलों की कुल संख्या                                   -05
प्रमंडलों के नाम                                -उत्तरी छोटानागपुर, दक्षिणी छोटानागपुर, संथाल परगना, पलामू, कोल्हान
राज्य निर्माण के समय जिलों की संख्या                               -18
 राज्य निर्माण के बाद नये जिलों की संख्या                            -06
राज्य निर्माण के बाद जिलों के गठन का क्रम      -लातेहार (4 अप्रैल, | 2001), जामताड़ा (26 अप्रैल, 2001), सिमडेगा (30 अप्रैल, 2001), सरायकेला-खरसावां, खूटी एवं रामगढ़ (12 सितम्बर, 2007)
वर्तमान में जिलों की कुल संख्या                                -24
क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला                   -रामगढ़
जिलों के नाम    -रांची, गुमला, सिमडेगा, लोहरदगा, हजारीबाग, कोडरमा, चतरा, बोकारो, धनबाद, गिरिडीह, दुमका, जामताड़ा, गोड्डा, देवघर, साहेबगंज, पाकुड़, पलामू, गढ़वा, लातेहार, पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला-खरसावां, खूटी एवं रामगढ़
अनुमंडलों की संख्या                  -36
प्रखण्डों की संख्या                        -260
नगर निगमों की संख्या                 -3 ( रांची, धनबाद एवं देवघर )
जिला परिषदों की संख्या                   -24
जिला परिषद के सदस्यों की संख्या        -445
पंचायतों की संख्या                        -4423
चिकित्सा महाविद्यालयों की संख्या         -04
केन्द्रीय विश्वविद्यालय की संख्या          -01
इंजीनियरिंग महाविद्यालयों की संख्या       -03
विधान सभा हेतु कुल सदस्यों की संख्या     -82
विधान सभा हेतु निर्वाचित सदस्यों की संख्या -81
विधान सभा हेतु मनोनीत सदस्यों की संख्या  -01
विधान सभा में अनुसूचित जनजाति हेतु आरक्षित स्थानों की संख्या -28
विधान सभा में अनुसूचित जाति हेतु आरक्षित स्थानों की संख्या -09
विधान सभा में अनारक्षित स्थानों की संख्या          -44
लोक सभा हेतु सदस्यों की संख्या            -14
राज्य सभा हेतु सदस्यों की संख्या                       -06
लोक सभा में अनुसूचित जनजाति हेतु आरक्षित स्थानों की संख्या -05
लोक सभा में अनुसूचित जाति हेतु आरक्षित स्थानों की संख्या    -01
लोक सभा में अनारक्षित स्थानों की संख्या                    -08
सबसे बड़ा संसदीय क्षेत्र                               –पश्चिमी सिंहभूम
सबसे छोटा संसदीय क्षेत्र                      –चतरा
कुल जनसंख्या (2011 की जनगणना के अनुसार)  -3,29,88,134
पुरुष जनसंख्या (2011 की जनगणना के अनुसार) -1,69,30,315 स्त्रियों की जनसंख्या (2011 की जनगणना के अनुसार) -1,60,57,819
कुल जनसंख्या में पुरुषों का हिस्सा             -51.32%
कुल जनसंख्या में महिलाओं का हिस्सा               -48.68%
0–6 आयु वर्ग की कुल जनसंख्या                    -53,89,495
देश की कुल जनसंख्या में झारखण्ड का हिस्सा                -2.72 प्रतिशत
जनसंख्या की दृष्टि से देश में झारखण्ड का स्थान            -14वां
जनसंख्या घनत्व                                       -414 व्यक्ति/वर्ग किमी.
जनसंख्या घनत्व की दृष्टि से झारखण्ड का भारतीय राज्यों में स्थान -16वां
2001-2011 के दशक में कुल जनसंख्या वृद्धि    -60,42,305
2001-2011 के दशक में जनसंख्या वृद्धि दर     -22.4 प्रतिशत
2001-2011 के दशक में सर्वाधिक जनसंख्या वृद्धि  दर वाला जिला  -कोडरमा

2001-2011 के दशक में न्यूनतम जनसंख्या वृद्धि दर वाला जिला    -धनबाद
सर्वाधिक दशकीय जनसंख्या वृद्धि दर वाले प्रथम चार जिले        -धनबाद, रामगढ़, पूर्वी सिंहभूम, बोकारो
झारखण्ड की कुल साक्षरता दर                          -66.4%
पुरुष साक्षरता दर                                    -76.8%
महिला साक्षरता दर                                   -55,4%
सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जिला                          -रांची (76.06%)
न्यूनतम साक्षरता दर वाला जिला                              -पाकुड़ (48.82%)
सर्वाधिक साक्षरता दर वाले प्रथम चार जिले                  -रांची, पूर्वी सिंहभूम, धनबाद, रामगढ़
न्यूनतम साक्षरता दर वाले प्रथम चार जिले       -पाकुड़, साहेबगंज, गोड्डा, पश्चिम सिंहभूम
सर्वाधिक पुरुष साक्षरता दर वाला जिला        -राँची (84.26%)
न्यूनतम पुरुष साक्षरता दर वाला जिला        -पाकुड़ (57.06%)
सर्वाधिक महिला साक्षरता दर वाला जिला     -रांची (67.44%)
न्यूनतम महिला साक्षरता दर वाला जिला     -पाकुड़ (40.52%)
राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लम्बाई            -2391 किमी.
राज्य उच्च मार्गों (SH), मुख्य जिला सड़क (MDR) और अन्य पीब्ल्यूडी सड़कों की कुल लम्बाई                          -1,68,77 किमी.
राज्य की मान्य (बडी) नदियों की संख्या       -14
वित्त वर्ष 2011-12 में तेन्दुलकर विधि के अनुसार गरीबी रेखा से नीचे की कुल आबादी                                        -54.9
प्रतिशत प्रतिव्यक्ति औसत आय वित्त वर्ष 2013-14 में वर्ष 2004-05 के स्थिर मूल्य पर                                      -27,772 रुपये
वित्त वर्ष 2013-14 में वर्तमान मूल्य पर राज्य में प्रति व्यक्ति आय   -46,524 रुपया
प्रथम राज्यपाल                               -प्रभात कुमार
प्रथम विधान सभा अध्यक्ष                      –इन्दर सिंह नामधारी
प्रथम विधान सभा उपाध्यक्ष                 –बागुन सुम्बई
प्रथम मुख्यमंत्री                            –बाबूलाल मरांडी
प्रथम निर्दलीय मुख्यमंत्री                   -मधु कोड़ा
प्रथम मुख्य न्यायाधीश                      -न्यायमूर्ति विनोद कुमार गुप्ता
प्रथम मनोनीत विधान सभा सदस्य    -जोसेफ पेचेली गॉलस्टीन
प्रथम विश्वविद्यालय                    -रांची विश्वविद्यालय,
रांची प्रथम चिकित्सा महाविद्यालय        -राजेन्द्र चिकित्सा महाविद्यालय, रांची
प्रथम महाविद्यालय                    -संत कोलम्बस महाविद्यालय, हजारीबाग
सबसे ठंडा स्थल                      -नेतरहाट (लातेहार)
सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान                  -नेतरहाट
सबसे बड़ी नदी घाटी परियोजना     -दामोदर नदी घाटी परियोजना
सबसे ऊंचा जल प्रपात             -बूढ़ाघाघ जलप्रपात ( लातेहार )
सबसे बड़ा हवाई अड्डा                 -बिरसा हवाई अड्डा, रांची
सर्वोच्च शिखर                           -पारसनाथ
सबसे गर्म जलकुण्ड                       -सूर्यकुण्ड ( हजारीबाग )
समुद्र से निकटतम जिला            -पूर्वी सिंहभूम
सबसे लंबी नदी                      -दामोदर नदी





झारखण्ड किन दो शब्दों के योग से बना है ?      – “झारऔरखण्ड
झार" और "खण्ड' का क्या अर्थ है ?                           -झार कावनतथा खण्ड काभू-भाग
झारखण्ड का शाब्दिक अर्थ क्या है ?              -वन प्रदेश (झाड़ों का प्रदेश)
झारखण्ड क्षेत्र का सर्वप्रथम उल्लेख कहाँ एवं किस नाम से मिलता है ?                                                      -ऐतरेय ब्राह्मण में, मुण्डा 
उत्तर वैदिक काल में झारखण्ड क्षेत्र को किस नाम से जाना जाता था ?                                                                                                              -व्रात्य प्रदेश
भागवत पुराण में झारखण्ड को किस नाम से संबोधित किया गया है ?      -किक्कट प्रदेश
वायु पुराण में झारखण्ड को किस नाम से संबोधित किया गया है ?         -मुरण्ड
विष्णु पुराण में झारखण्ड को किस नाम से संबोधित किया गया है ?     -मुंड
झारखण्ड शब्द का सर्वप्रथम उल्लेख कब किया गया ?          -13 वीं शताब्दी में
मुगल काल में झारखण्ड को किस नाम से जाना जाता था ?     -खुखरा / कुकरा
भारतीय पुरातत्व में असुर' शब्द का प्रयोग झारखण्ड के किन-किन जिलों के लिए हुआ है ?                                                         –राँची, गुमला, लोहरदगा
झारखण्ड में किस स्थल से बुद्ध की भूमि स्पर्श मुद्रा में एक मूर्ति प्राप्त         -पलामू किला (लातेहार)-से
नागवंशी राजा ने सर्वप्रथम नवरत्न' नामक पंचमंजिला भवन का निर्माण कहाँ करवाया था ?                                                 -दोयसा में
रायकेला राज्य की स्थापना किसने की थी ?           –विक्रम सिंह ने
पलामू रियासत की राजधानी कहाँ थी ?          -पलामूगढ़(औरंगा नदी के तट पर )
सोनपुरा रियासत किस जिले में अवस्थित थी ?        -पलामू में
कुंडे रियासत किस जिले में अवस्थित थी ?           -हजारीबाग में
किस तुगलक शासक ने सतगावाँ को अपनी राजधानी बनायी थी ?            -फिरोजशाह तुगलक ने
1592 ई० में अकबर के राजप्रतिनिधि मानसिंह ने झारखण्ड के
किस स्थान को बिहार एवं बंगाल की राजधानी बनाया ?      -राजमहल को
झारखण्ड के किस राजा ने मानसिंह को उड़ीसा अभियान में मदद की थी ?                                   -राजा मधु सिंह ने
जहांगीर के शासनकाल में (1616 ई० में) छोटानागपुर का राजा कौन था ?                                          -दुर्जनसाल
झारखण्ड में अंग्रेजों का आगमन सर्वप्रथम किस क्षेत्र में हुआ ?                 -सिंहभूम
किसने 1778 ई० में झारखण्ड क्षेत्र के प्रशासन हेतु एक वृहद् योजना प्रस्तुत की ?      -रॉबर्ट ब्राउन ने

 सन् 1779 ई० में झारखण्ड में पहली बटालियन कहाँ स्थापित की गयी तथा किसको इसका पहला प्रशासक नियुक्त किया गया ?                     -रामगढ़ में, चैपमेन को
झारखण्ड का कौन-सा क्षेत्रहो' जनजाति की मातृभूमि कहलाता है ?    -कोल्हान क्षेत्र
हजारीबाग क्षेत्र में अंग्रेजी कम्पनी को सर्वाधिक विरोध का सामना किस राज से करना पड़ा था ?                                                                                           -रामगढ़
किसके नेतृत्व में 1789 का तमाड़ विद्रोह हुआ था ?                   -विष्णु और मौजी मानकी
तमाड़ विद्रोह का प्रारंभ कब हुआ था ?                                -1789 ई० में
तमाड़ विद्रोह कब से कब तक चला ?                               -1789 ई० से 1794 ई० तक
तिलका आंदोलन कब एवं किसके नेतृत्व में प्रारम्भ हुआ था ?
                                                                                         -1783-85 ई० में तिलका माँझी
तिलका माँझी का वास्तविक नाम क्या था ?                               -जबरा पहाड़िया
तिलका आंदोलन से प्रभावित क्षेत्र कौन-सा था ?                            -संथाल परगना
शहीद तिलका माँझी को किस वृक्ष पर लटका कर फाँसी दी गयी थी ?      -बरगद के वृक्ष पर
तिलका माँझी द्वारा गाँव में विद्रोह का संदेश किस माध्यम से भेजा जाता था ?                                                                                             -सखुआ पत्ता से
किस विश्वविद्यालय का नाम तिलका माँझी के नाम पर रखा गया है ?         -भागलपुर विश्वविद्यालय
हो विद्रोह कब हुआ था ?                                                         -1820-21 ई० में
हो विद्रोह को समाप्त कराने में किस अंग्रेज मेजर ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी ?                                                               –मेजर रफसेज ने
कोल विद्रोह का प्रारम्भ कब हुआ ?                                         -1831 ई० में
कोल विद्रोह के नेतृत्वकर्ता कौन थे ?                             -सिंदराय, बिंदराय, सुर्गा एवं बुधु भगत
कोल विद्रोह किस जनजाति का विद्रोह था ?        -मुंडा जनजाति का
कोल विद्रोह में मुंडा जनजाति का साथ किस अन्य जनजाति ने दिया था ?                                                                          -हो जनजाति ने
भूमिज विद्रोह कब एवं किसके नेतृत्व में हुआ था ?            -1832 ई०, गंगा नारायण
भूमिज विद्रोह का प्रमुख कारण क्या था ?               -कंपनी द्वारा जमींदारों पर अत्यधिक राजस्व थोपना
संथाल विद्रोह कब एवं किसके नेतृत्व में प्रारम्भ हुआ ?
                                                                         -1855 ई०, सिद्धो-कान्हू के
संथाल विद्रोह का प्रारम्भ किस स्थान से हुआ ?          -भगनाडीह से
किस तिथि को संथालों की सभा हुई, जिसमें सिद्धो एवं कान्हू कोसूबा' चुना गया ?                                                                               -30 जून, 1855 को