सेवा में,

     मुख्य स्वास्थ्य पदाधिकारी
     ..........(स्थान का नाम )।

महोदय,

  मै आपका ध्यान सरकारी अस्पतालों की बदहाल व्यवस्था की ओर दिलाना चाहता हूँ। अधिकांश अस्पतालो में सुविधाओं का घोर अभाव है। आकस्मिक सेवाएँ तो नहीं के बराबर है। पिछले सपह ही हमारे मुहल्ले के एक युवक को दुर्घटना में गंभीर चोटें आयीं लोग उसे स्थानीय चिकित्सा केन्द्र में ले गये। वहाँ कोई ड्यूटी डाॅक्टर नही मिला। रक्तस्त्र्राव रोकने के लिए साफ बैंडेज और रूई भी परीजनों को बाजार से लाने को कहा गया। दवाएँ थीं तो वे भी एक्सपायरी। डाक्टर के इन्तजार में जब मरीज की स्थिति बिगड़ने लगी तो आनन-फानन उसे पास के शहर में प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया और किसी तरह उसकी जान बची।

महोदया से आग्रह है कि सरकारी अस्पतालोें की स्थिति में सुधार और सुविधाओं कें विस्तार के लिए कारगर कदम उठाये जायँ। समर्थ लोगों के लिए तो प्राईवेट अस्पतालों की कमी नहीं। बेचारे गरीब कहाँ जाएँ।

धन्यवाद।
भवदीय 
दिनांक......................         
नाम..................
 पता....................।