राहुल वर्मा
पता : ........
...............
...............

दिनांक : ..........

प्रिय अजय
बहुत बधाई!

     पता चला हे कि तुम जर्मनी में होने वाले विश्व—छात्र सम्मेलन में भाग लेने के लिए अपने विघालय से चुने गए हो और 20 अगस्त को यात्रा पर जा रहे हों मुझे यह समाचार सुनकर बहुत खुशी मिलीं मन में आा कि काशा मै भी तुम्हारे साथ होता! परंत तुम जा रहे हो तो मै सांचूँगा कि मैं ही जा रहा हूँ। मैं तुम्हारी आँखों से जर्मनी को देखूॅंगा। तुम वापरस आकर मुझे अपने अनुभव बताना। तुम जर्मनी जिस काम के लिए जा रहे हो, उसमें पूरी तन्मयता से मन लगाना। भगवान करे, यह अवसर तुम्हारे लिए चिरस्मरणीय बन जाए और आगे प्रगति के द्वार खोले।

मेरी ओर से ढेर सारी शुभकामनाएँ।

भवदीय
राहुल वर्मा