मेरे पज्य चाचाजी,

  कितना सुंदर उपहार! कल सुबह डाकिया आया। उसने मुझे एक पार्सल दिया। मैने उसे खोला। उसमें एक पत्र और घड़ी पाकर मै बहुत खुश हुआ। घड़ी बहुत सुंदर है। अपने जन्मोत्सव के समय मैने इसे पहना था।

प्रत्येक व्यक्ति ने उसे पसंद किया। इस उपहार के लिए आपको बहुत धन्यवाद। मुझे एक घड़ी की जरूरत थी। यह बहुत उपयोगी है। मै इसे सावधानीपूर्वक रखूॅंगा। चाचाजी, मै उपहार के लिए पुन: धन्यवाद देता हूॅं।

कृप्या चाचीजी से मेरा प्यार कह देगें।

                                                                                              आपका प्यारा भतीजा,
                                                                                                   शशीकांत