सूरजगढ़, देवघर
                                                                                                 9 जून 2014

प्रिय जॉन,

  कल तुम्हारा पत्र पाकर मै बहुत खुश हुओ। तुम मेरे घर के बारे मे जानना चाहते हो। अत: मै उसके बारे में लिख रहा हूॅं।

 गॉंव में मेरा एक छोटा घर है। मेरे घर में चार कमरे है। घर ईटो का बना हुआ है। प्रत्येक कमरे में एक दरवाजा और दो खिड़कियॉं है। मेरे घर के चारो ओर खेत है। मेरे घर के सामने एक बगीचा हे। मेरा घर देखने में सुंदर हैं मै अपने घर को पसंद करता हूॅं। कृप्या तुम अपने घर के बारे में लिखो।

सप्रेम,
                                                                                                     तुम्हारा विश्र्वासी,
                                                                                                            जिवन