आनंदपुर, गोपालगंज

                                                                                      16 अगस्त 2005

मेरे पूज्य भईजी,

 15 अगस्त हमलोगों का स्वंतत्रता—दिवस है। कल मेरे विद्यालय में एक समारोह हुआ थांं मै सोचता हूॅ आप उसके बारे में सुनना पसंद करेंगं।

   हमलोग प्रात: काल अपने विद्यालय गए। हमलोगो ने विद्यालय की सफाई की। आठ बजे हमारे प्रधानध्यापक महोदय ने राष्ट्रीय झंडा फहराया। हमारे एन.सी.सी के लड़को ने उन्हें सलामी दी। हमारे प्रधानध्यापक महोदय ने कुद मिनटो तक भाषण दिया। फिर कुछ छात्रो ने एक नाटक पेश किया। वह गॉंधीजी के जीवन पर था। इस तरह हमलोगो ने स्वतंत्रता—दिवस मनाया।

आदर के साथ,

                                                                                                आपका प्यारा भार्इ,
                                                                                                         रोहित