pracharya ko patra likhkar jurmana mafi ka nivedan kijiea




सेवा में
प्राचार्या जी
उच्च विधालय
बिहार

विषय: जुर्माना—माफी हेतु

श्रीमान जी

        सविनय निवेदन है कि मैं इस वर्ष छ: मासिक परीक्षाएॅं नहीं दे सका था। परीक्षाओं के दौरान मुझे भीषण ज्वर हो गया था, जिसके कारण पॉंच दिन तक हस्पताल में भर्ती रहना पड़ा था। परीक्षाएॅं न दे पाने के कारण मुझ पर सौ रूपये का जुर्माना लगा दिया गया है। मैं आपसे प्रार्थना करता हूॅं कि आप मेरा मजत्रबूरी समझें तथा यह जुर्माना माफ़ कर दें। आपकी अति कृपा होगी।

आपका अज्ञाकारी

विकाश शर्मा
नवंम 'सी'
दिनांक: 07—05—2015